रोजगार चलने की दुआ | रोजी में बरकत की दुआ

इल्म और रिज़्क़ में बरकत की दुआ


 रोजगार चलने की दुआ

हदिस : इल्म और रोजी में बरकत की दुआ

उम्मे सलमा (र.अ.) से रिवायत है के, रसूलअल्लाह (ﷺ)
जब सूबाह की नमाज़ में सलाम फेरते तो उसके बाद ये दुआ पढ़ते:

“अल्लाहुम्मा ईन्नी असलुका ईल्मन नाफिआ,
व रिज़कना  तैय्यबा वा अमलन मुतक़ब्बला”

(ऐ अल्लाह ! मैं तुझसे नफा देने वाले इल्म और
पाकीज़ा रिज़्क़ और क़बूल होने वाले अमल का सवाल करता हु।)

📕 सुनन इब्ने माजाह 925-सहीह


रोजी में बरकत की दुआ इन हिंदी, रोजी में बरकत की दुआ,
पैसे में बरकत की दुआ, दुकान में ग्राहक आने की दुआ,
कामयाबी की दुआ इन हिंदी, रोजी रोटी के लिए दुआ,
घर में बरकत की दुआ, खैरो बरकत की दुआ

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने