✓ बुरी नज़र से बचने की दुआ हिंदी में | Nazar ki Dua

Nazar ki Dua: Boori Nazar se bachne ki Dua

Nazar ki Dua
Boori Nazar se bachne ki Dua

बुरी नज़र, शैतान के हमले, हर जहरीले जानवर से और हर नुकसान पहुँचाने वाली चीज़ों से बचने की दुआ। 

۞ बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम ۞

أَعُوذُ بِكَلِمَاتِ اللَّهِ التَّامَّةِ مِنْ كُلِّ شَيْطَانٍ وَهَامَّةٍ وَمِنْ كُلِّ عَيْنٍ لامَّةٍ

“A’oodhu Bikalimatillahi-
Tammatti Min Kulli Shaytaanin
Wa Hammatin Wamin Kulli
‘Aynin Lammatin.”

Main panaah mangta hun Allah ki purey purey kalamat ke jariye,
har shaitan se aur har zahreele janwar se aur
har nuqsaan pahunchaney waali Nazar-e-Badd se.

मैं पनाह मांगता हु अल्लाह की पुरे पुरे कलिमात के जरिए,
हर शैतान से और हर ज़हरीले जानवर से
और हर नुकसान पहुँचाने वाली नज़र-ए-बद्द से।


✦ बुरी नज़र से बचने की दुआ:

۞ हिंदी हदिस: इब्ने अब्बास (रज़ी अल्लाहु अन्हु) से रिवायत है की, रसूलअल्लाह (ﷺ) अल्लाह से हुसैन व हसन (रज़ी अल्लाहु अन्हु) के लिए तालाब किया करते थे और फरमाते थे की “तुम्हारे बुज़ुर्ग दादा इब्राहिम (अलैहि सलाम) भी इस्माइल और इस्हाक़ (अलैहि सलाम) के लिए इन्ही कलीमात के जरिये अल्लाह की पनाह माँगा करते थे। ‘अवज़ू बि-कलिमातील्लाही तमात्ति मीन कुल्ली शैतानींन व हम्मातींन वा-मिन कुल्ली अयेनिन लामातिन।’

तर्जुमा : मैं पनाह मांगता हु अल्लाह की पुरे पुरे कलिमात के जरिए, हर शैतान से और हर ज़हरीले जानवर से और हर नुकसान पहुँचाने वाली नज़र-ए-बद्द से.

📕 सहीह अल-बुखारी 3371

----- ---- ✦ ---- -----

✦ Buri Nazar se Bachne ki Dua

۞ Hadees: Ibne Abbas (R.A.) se Riwayat hai ki, Rasool’Allah (ﷺ) Allah se Hussain wa Hasan (R.A.) ke liye Panah talab kiya kartey they aur farmatey they ki “Tumharey Buzurg Dada Ibrahim (Alaihay Salam) bhi Ismaeel aur Ishaq (Alaihi Salam) ke liye Inhi Kalamat ke Jariye Allah ki panaah manga kartey they. ‘A’oodhu Bikalimatillahi-Tammatti Min Kulli Shaytaanin Wa Hammatin Wamin Kulli ‘Aynin Lammatin.’

 Tarjuma: Main panaah mangta hun Allah ki purey purey kalamat ke jariye, har shaitan se aur har zahreele janwar se aur har nuqsaan pahunchaney waali Nazar-e-Badd se.

📕 Sahih al-Bukhari 3371

----- ---- ✦ ---- -----

✦ Dua Against Bad Evil Eye, Black magic:

۞ Hadith: Narrated Ibn `Abbas: The Prophet (ﷺ) used to seek Refuge with Allah for Al-Hasan and Al-Husain and say: “Your forefather (i.e. Abraham) used to seek Refuge with Allah for Ishmael and Isaac by reciting the following: ‘O Allah! I seek Refuge with Your Perfect Words from every devil and from poisonous pests and from every evil, harmful, envious eye.‘ ”

📕Sahih al-Bukhari 3371

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने

Trending Topic