सेहरी और इफ्तारी की दुआ | Sehri aur Iftari ki Dua

सेहरी की दुआ, इफ्तारी की दुआ 2022 Ramzan , Sehri Roza Rakhne ki Niyat ki Dua in Hindi, Sehri ki Dua
सेहरी की दुआ | Roza rakhne ki Dua in Hindi

सेहरी की दुआ

मुआशरे में सेहरी के नियत की जो दुआ मशहूर है वो हदीस से सबित नहीं। नियत दिल के इरादे का नाम है।

आपका सहरी के लिए उठना ही नियत में शुमार है। 

लिहाजा सेहरी के लिए किसी खास दुआ का एहत्माम करना जरुरी नहीं।

<<<<< ۞ >>>>>

इफ्तारी की दुआ | Roza kholne ki Dua in hindi

इफ्तारी की दुआ

इफ्तार बिस्मिल्लाह कह कर शुरू करे, 
और इफ्तारी के बाद रोजा खोलने की ये दुआ पढ़ेः

ذَهَـبَ الظَّمَـأُ، وَابْتَلَّـتِ العُـروق، وَثَبَـتَ الأجْـرُ إِنْ شـاءَ الله

जहबज-जमाउ वबतल्लती उरुकु
व सबतल-अजरु इंशा अल्लाह

प्यास खत्म हुई, रगे तर हो गयी और रोजे का सवाब इंशाअल्लाह पक्का हो गया।

📕 सुनन अबू दाऊद; हदीस: 2357

एक टिप्पणी भेजें

© Hindi | Ummat-e-Nabi.com. All rights reserved. Distributed by ASThemesWorld