मैदाने हश्र | Hashr ka Maidan

हश्र का मैदान

हश्र का मैदान

क़यामत क्या, कब और कैसी आएगी, हश्र का मैदान क्या है और कहाँ होगा? जानिए तफ्सील में ...

  • मैदाने हश्र (पार्ट: 1)
    1. क़यामत किसे कहते है ?
    2. क़यामत क्यों आएगी ?
    3. क़यामत कब आएगी ?
    4. सबसे बड़े ज़ालिमों पर क़यामत नाज़िल होगी
    5. ठंडी हवा के जरिए तमाम मोमिनो को मौत दी जाएगी
    6. हज़ार में 999 दोजखी होंगे
    7. कयामत किन लोगों पर कायम होगी?
  • मैदाने हश्र (पार्ट: 2)
    1. कयामत की तारीख की ख़बर
    2. कियामत अचानक आ जाएगी
    3. सूर का फूंका जाना
      1. सुर क्या है ?
      2. दो सुर फुंकने के दरमियान कितना वक्त होगा ?
      3. सुर फुकने के बाद कौन होश में बाकि रहेंगे ?
  • कायनात का बिखर जाना
  • पहाड़ों का हाल
  • आसमान व जमीन के हालात
  • चांद, सूरज और सितारो के हालात
  • इन्सानों का कब्रों से निकलना
  • कब्रों से नंगे और बे-ख़त्ना निकलना
  • कब्रों से उठकर मैदाने हश्र में जमा होने के लिए चलना
  • काफिर गूंगे-बहरे और अन्धे उठाये जाएंगे
  • दुनिया में कितने दिन रहे?
  • कयामत के दिन की परेशानी और हैरानी
  • कयामत का दिन होश गुम कर देने वाला होगा
  • चेहरों पर ख़ुशी और उदासी
  • महशर में पसीने की मुसीबत
  • हश्र के मैदान में मौजूद लोगों की अलग-अलग हालतें
  • भिख़ारियों की हालत
  • जिसने एक बीवी के साथ नाइंसाफी की हो उसकी हालात
  • जो कुरआन शरीफ भूल गया हो
  • बेनमाज़ियों का हश्र
  • कातिल व मक्तूल
  • कातिल की मदद करने वाला
  • वादा न पूरा करने वाला
  • अमीर या बादशाह
  • जकात ना देने वाला
  • कयामत के दिन सबसे ज़्यादा भूखे लोग
  • दोगले का हश्र
  • कनसूई लेने वाला
  • जिल्लत का लिबास
  • जमीन हड़पने वाला
  • आग की लगाम
  • गुस्सा पीने वाला
  • हरमैन में वफात पाने वाला
  • जो हज करते हुए मर जाए
  • शहीद
  • कामिल नूर वाले
  • आज़ान देने वाले
  • अल्लाह के लिए मुहब्बत करने वाले लोग
  • अर्श के साये में
  • नूर के ताज वाले
  • हलाल कमाने वाला
  • रिश्ते-नाते काम न आयेंगे
  • दोस्त दुश्मन को जाएंगे
  • रिश्वत में सारी दुनिया देने को तैयार होंगे
  • दुनिआ में दोबारा आने की दरख्वास्त
  • सरदारों पर लानत
  • लीडरों की बेजारी
  • हश्न के मैदान में प्यारे नबी (ﷺ) के बुलन्द मर्तबे का जुहूर
  • शिफाअते कुबरा, मकामे महमूद, उम्मते मोहम्मदिया की बड़ाई
  • उम्मते मुहम्मदिया की पहचान
  • हौज़े कौसर
  • हजरत मुहम्मद (ﷺ) के हौज़ की खूबियां
  • सबसे पहले हौज़ पर पहुंचने वाले लोग
  • हौज़े कौसर से हटाये जाने वाले लोग
  • अपने-अपने बापों के नाम से बुलाये जाएंगे
  • क़यामत बुलन्द और पस्त करने वाली होगी
  • नेमातों का हाल
  • पैगम्बरों से सवाल
  • फ़रिश्तो से खिताब
  • फ़रिश्तो का जवाब
  • हजरत नूह (अलैहि सलाम) की उम्मत के ख़िलाफ्‌ उम्मते मोहम्मदिया की गवाही
  • मुश्रिकों का इंकार कि हम मुश्रिक न थे
  • हज़रत ईसा (अलैहि सलाम) से सवाल
  • हजरत ईसा (अलैहि सलाम) का जवाब
  • हिसाब-किताब, किसास, मीजान
  • नीयतों पर फैसले
  • नमाज़ का हिसाब और नफ़लों का फायदा
  • बेहिसाब जन्नत में जाने वाले लोग
  • सख्त हिसाब
  • मोमिनो पर अल्लाह का ख़ास करम
  • बगैर किसी वास्ते और पर्दे के अल्लाह को जवाब देना
  • किसी पर ज़ुलम न होगा और भलाई और बुराई की हर एक बात मौजूद होगी
  • बंदों के हक
  • नेकियों और बुराइयों से लेन-देन होगा
  • कयामत के दिन सबसे बड़ा गरीब
  • मां-बाप भी हक छोड़ने पर राजी न होंगे
  • सबसे पहले मुदृदई व मुदआ अलैह
  • जानवरों के फैसले
  • मालिकों और गुलामों का इंसाफ
  • जिन्‍नो से ख़िताब
  • जुर्म न मानने पर गवाहियां
  • बदन के अंगों की गवाही
  • जमीन की गवाही
  • आमालनामे
  • आमालनामों में सब कुछ होगा और मुजरिम डरे हुए हसरत करेंगे
  • आमालनामों की तक्सीम
  • आमालनामों के मिलने पर नेक बंदों को बेहद ख़ुशी और बुरों को बेहद अफ़सोस होगा
  • अमल का वजन
  • एक बंदे के अमल का वजन
  • सबसे ज़्यादा वजनी अमल
  • काफिरों की नेकियाँ बेवजन होंगी
  • अल्लाह की रहमत से बछ्शे जायेंगे
  • हर एक शर्मिंदा होगा
  • शफाअत
  • मोमिनों की शफाअत
  • लानत करने वाले शफाअत नहीं कर सकेंगे
  • मुजाहिद की शफाअत
  • मां-बाप के हक में नाबालिग बच्चे की शफ़ाअत
  • कुरआन के हाफिज की शफाअत
  • तंबीह
  • रोज़ा और कुरआन की शफाअत
  • तजल्ली-ए-साक, पुल सिरात, तक़्सीमे नूर
  • (गैरमुस्लिम) काफिरों, मुश्रिकों और मुनाफिकों की बेपनाह मुसीबत
  • नूर की तक्सीम
  • साक की तजल्ली
  • प्यारे नबी (ﷺ) जन्नत खुलवाएंगे
  • जन्नत व दोजख में गिरोह-गिरोह जायेंगे
  • दोज़ख़ियों की आपस में एक दूसरे पर लानत
  • दोज़ख़ियों को अनोखी हैरत
  • अपने मानने वालों के सामने शैतान की सफाई पेश करना
  • मालदार हिसाब की वजह से जन्नत में जाने से अटके रहेंगे
  • दोज़ख़ में अक्सर औरतें और मालदार जाएंगे
  • जन्‍नतियों को दोज़ख़ और दोज़ख़ियों को जन्नत.
  • जन्नत और दोजख़ दोनों भर दी जाएंगी
  • दोजख़ में जाने वालों का अन्दाज़ा
  • कयामत के दिन की लंबाई
  • मौत की मौत
  • आराफ वाले।

एक टिप्पणी भेजें