57 चीजें जिनसे प्यारे नबी करीम(ﷺ)ने अल्लाह की पनाह माँगी है या माँगने का हुक्म दिया है

57 चीजें जिनसे प्यारे नबी करीम(ﷺ)ने अल्लाह की पनाह माँगी है या माँगने का हुक्म दिया है

*57(सतावन) चीजें जिनसे प्यारे नबी करीम(ﷺ)ने अल्लाह की पनाह माँगी है या माँगने का हुक्म दिया है*
🔻🔻🔻🔻🔻🔻🔻🔻🔻🔻

*1.शैतान मरदूद से*
📚बुखारी-6115

*2.सुस्ती से*
📚बुखारी-6368

*3. बहुत ज्यादा बुढ़ापे से*
📚बुखारी-6368

*4.गुनाहों से*
📚बुखारी-6368

*5. कर्ज से*
📚बुखारी-6368

*6.कब्र की आजमाईश और उसके अजाब से*
📚बुखारी-6368

*7.दोजख की आजमाईश और उसके अजाब से*
📚बुखारी-6368

*8.मालो दौलत की आजमाईश से*
📚बुखारी-6368

*9.मुहताजी की आजमाईश से*
📚बुखारी-6368

*10.दज्जाल के फित्नें से*
📚बुखारी-6368

*11. जिंदगी और मौत के फित्नों से*
📚बुखारी-6367

*12.नेअमत के खत्म होने से*
📚मुस्लिम-2739

*13.अल्लाह तआला के नाराजगी वाले तमाम कामों से*

*14.बेबसी से*
📚मुस्लिम-2722

*15.बुजदीली से*
📚मुस्लिम-2722

*16.कंजूसी से*
📚मुस्लिम-2722

*17.गम व फिक्र से*
📚तिर्मीजी-3503

 *18.मालदारी के शर से*
📚मुस्लिम-2697

*19.नेअमत के खत्म होने से*
📚मुस्लिम-2739t

*20. अल्लाह तआला के नाराजगी वाले तमाम कामों से*
📚मुस्लिम-2739

*21. बुरे दोस्त से*
📚तबरानी कबीर-810]

*22.आफियत के पलट जाने से*
📚मुस्लिम-2739

*23.(दुसरो के आगे)आजीजी,मजबूरी से*
📚नसाई-5460

*24.काहिली से*
📚नसाई-5460

*25.जिल्लत से*
📚नसाई-5460

*26. उस इल्म से जो फायदा नहीं दे*
📚इब्ने माजा-3837

*27.उस दिल से जो अल्लाह के सामने नरम न हो*
📚इब्ने माजा-3837

*28.उस नफ्स से जो भरे नहीं*
📚इब्ने माजा-3837

*29.उस दुआ जो कुबूल न हो*
📚इब्ने माजा-3837

*30. बुरे अख्लाक से*
📚अल हाकीम-1949

*31. बुरे आमाल से*
📚अल हाकीम-1949

*32. बुरी ख्वाहिशात से*
📚अल हाकीम-1949

*33. बुरी ख्वाहिशात से*
📚अल हाकीम-1949

*34. बुरी बीमारियों से*
📚अल हाकीम-1949

*35.आजमाईशों की मशक्कत से*
📚बुखारी- 6616

*36. कानों की बुराई से*
📚अबू दाऊद-1551

*37. आँखो की बुराई से*
📚अबू दाऊद-1551

*38. जुबान की बुराई से*
📚अबू दाऊद-1551

*39. दिल की बुराई से*
📚अबू दाऊद-1551

*40. बुरी ख्वाहिश के शर से*
📚अबू दाऊद-1551

*41.बदबख्ती लाहक होने से*
📚बुखारी-6616

*42. दुश्मन की खुशी से*
📚बुखारी- 6616

*43.बुरे खात्मे से*
📚बुखारी-6616

*44. ऊँची जगह से गिरने से*
📚नसाई- 5533

*45. किसी चीज के नीचे दबने से*
📚नसाई-5533

*46. जलने से*
📚नसाई-5533

*47. डूबने से*
📚नसाई-5533

*48.मौत के वक्त शैतान के बहकावे से*
📚नसाई- 5533

*49. बुरे दिन से*
📚तबरानी कबीर-810

*50. ​​बुरी रात से*
📚तबरानी कबीर-810

*51. बुरे लम्हों से*
📚तबरानी कबीर-810

*52. दुश्मन के गल्बे से*
📚 नसाई-5477

*53.हर उस बात और अमल से जो जहन्नुम के करीब कर दे*
📚अबू याला-4473

*54. कुफ्र से।*
📚 अबु याला-1330

*55. निफाक से।*
📚 मुस्तदरक हाकीम-1944

*56. शोहरत से।*
📚 मुसतदरक हाकीम-1944

*57. रियाकारी से।*
📚 मुस्तदरक हाकीम-1944 

*नोट- नबी करीम (ﷺ)ने यह सब दुआ हम गुनहगार उम्मते की तालिम के लिए फरमाई है वरना आप (ﷺ) तो पुरी जिंदगी अल्लाह की खास रहमत के साये में थे,इसलिए आप (ﷺ)मासूम है,आप हर तरह के गुनाह से पाक साफ है आप की गारंटी खुद अल्लाह ने दी है👇*
*"तुम्हारे साथी(मुहम्मदﷺ)न कभी भटके है और न कभी बे राह चले है"*
*📚अल कुरआन सुरह नज्म आयत-2*

*🤲या अल्लाह,जिन जिन चीजों से तेरे हबीबﷺ ने पनाह माँगी है,उन तमाम चीजों से हम भी पनाह माँगते है,तू उन तमाम चीजों से हमारी हिफाजत फरमा।आमीन*
👆
*ये मैसेज आपके पास अमानत है(खयानत करना मुनाफिक की अलामत है)लिहाजा इसमें बगैर कमी बेशी किये आगे शेयर करे।अगर किसी भी तरह की भूल चूक पाये तो हमें जरूर आगाह करे।जजाकअल्लाह खैर*
📜by
🤲तालिबे दुआ 
👤आपका दीनी भाई 
अब्दुल अजीज गुवाहाटी 
📞8011782463
Previous Post
Next Post

post written by:

Founder, Designer & Developer of Ummat-e-Nabi.com | Worlds first Largest Islamic blog in Roman Urdu.

0 Comments: