और जब अल्लाह का अज़ाब आ पहुंचा ...

Aur Jab Allah ka Azab aa Pahuncha

और जब अल्लाह का अज़ाब आ पहुंचा

तो जब उनपर हमारी सज़ा पहुंची, तो वे हमारे समक्ष
झुक क्यों नहीं गये?
लेकिन उनके दिल और सख़्त हो गए और शैतान ने उनके लिए
उनके कुकर्मों को पसंदीदा बना दिया।

कुरआन 6:43

- : नसीहत : -

एक छोटे से वायरस ने बड़े-बड़े देशों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया।
इससे ये सीख मिलती है कि इंसान को अपनी कमज़ोरी का
एहसास करते हुए मुसीबत के समय अपने असली पालनहार
उस एक ईश्वर (अल्लाह) के आगे झुकना चाहिए
और अपनी गलतियों पर पश्चाताप करना चाहिए।


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने

Trending Topic