हद से ज्यादा खाना न खाएं ~ हदीस

हद से ज्यादा खाना न खाएं

हद से ज्यादा खाना न खाएं

अंतिम ईशदूत मुहम्मद (ﷺ) ने फरमाया: 

आदमी के लिए सबसे बुरा बर्तन उसका भरा हुआ पेट है,
एक इंसान के लिए काफी है कि वो इतना खाना खाए,
जो उसकी पीठ सीधी रख सके, लेकिन अगर आदमी पर
उसका नफ्स गालिब आ जाए, तो फिर एक तिहाई पेट खाने के लिए,
एक तिहाई पीने के लिए और एक तिहाई सांस लेने के लिए रखें।  

📕  इब्ने माजा 3349


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने

Trending Topic